Current Size: 100%

home

emblem
भारत सरकार Ministry of Electronics & Information Technology
Home

वर्तमान कार्यकलाप/ घटनाएं

  • डीईआईटीवाई ने राष्ट्रीय मानक और प्रौद्योगिकी संस्थान (एनआईएसटी), संयुक्त राज्य अमेरिका के वाणि‍ज्य विभाग के साथ मानकों और नियामक प्रक्रियाओं पर एक कार्यशाला के लिए समन्वय सथापित किया और कार्यशाला गैथर्सबर्ज, मैरीलैंड, संयुक्त राज्य अमरीका में सितंबर 15-19 2014 के दौरान की गई, जिसमें 15 वरिष्ठ सरकारी और निजी अधिकारियों ने भाग लिया । डीईआईटीवाई ने कार्यशाला में ई-शासन, आईपीएचडब्ल्यू, सर्ट-इन, गृह मंत्रालय, डीएससीआई, भारतीय मानक ब्यूरो, एसटीक्यूसी और यूआईडीएआई की तरह अलग-अलग सरकारी संगठनों/एजेंसियों से भागीदारी का आयोजन किया।
  • एमसीआईटी को डब्ल्यूसीआईटी, 2014 में भाग लेने के महासचिव डब्ल्यूआईटीएसए से आमंत्रण के प्रत्योत्तर में, डीईआईटीवाई ने ग्वाडलहारा, जलिस्को, मैक्सिको में 1 अक्टूबर, 2014 से 29 सितम्बर 2014 के दौरान आयोजित सूचना प्रौद्योगिकी पर वर्ल्ड कांग्रेस शिखर सम्मेलन (डब्ल्यूसीआईटी) में भाग लेने और भारत के आईटी-आईटीईएस क्षेत्र के प्रदर्शन के लिए प्रतिनिधियों को भेजा था । नैसकॉम ने भी इस कार्यक्रम में भाग लिया ।
  • माननीय स्वास्थ्य और जीवन की गुणवत्ता मंत्री, मॉरीशस सरकार, महामहिम श्री लोरमस बुनहू के नेतृत्व में एक प्रतिनिधिमंडल ने भारत में ई-स्वास्थ्य प्रणाली कैसे संचालित की जा रही की प्रथमदृष्टया जानकारी प्राप्त करने के लिए 22 सितंबर, 2014 को डीईआईटीवाई का दौरा किया। डीईआईटीवाई ने दोनों देशों के बीच सूचना और संचार प्रौद्योगिकी के क्षेत्र में द्विपक्षीय सहयोग को मजबूत करने के लिए विभिन्न मुद्दों पर प्रतिनिधिमंडल के साथ विचार-विमर्श किया ।
  • डीईआईटीवाई और राष्ट्रपति कार्यालय के अंतर्गत एक ई-शासन एजेंसी तंजानिया का लोक सेवा प्रबंधन के बीच नई दिल्ली में 28 अगस्त, 2014 को एक समझौता ज्ञापन पर हस्ताक्षर किए गए ।  समझौता ज्ञापन के उद्देश्यों में क्षमता निर्माण और प्रशिक्षण कार्यक्रमों, सर्वोत्तम प्रथाओं, सरकारी अधिकारियों और विशेषज्ञों के आदान-प्रदान, पायलट परियोजनाओं के विकास या डेमो समाधान और निजी क्षेत्र की सुविधा के जरिए दोनों देशों के आपसी लाभ के लिए ई-गवर्नेंस और एम-गवर्नेंस को आगे बढ़ाना शामिल हैं ।
  • सचिव, डीईआईटीवाई और श्री मासाहिको शि‍बायायामा, सदस्य, प्रतिनिधि सदन, अध्यक्ष, मंत्रिमंडल पर स्थायी समिति के नेतृत्व में जापानी प्रतिनिधिमंडल के बीच 24 जुलाई, 2014 को दोनों देशों के बीच द्विपक्षीय सहयोग पर चर्चा के लिए एक बैठक आयोजित की गई । जापानी प्रतिनिधिमंडल को बॉयोमीट्रिक प्रमाणीकरण परियोजना अर्थात् यूआईडीएआई के आकलन और इसके तत्संबंधी काम के बारे में जानकारी दी गई ।
  • डीईआईटीवाई ने तेल अवीव में मई 2014 में आयोजित प्रथम इसराइल अभिनव सम्मेलन-MIXiii 2014 में सी-डैक, समीर, सी-मेट और मीडिया लैब एशिया के साथ-साथ भाग लिया था । सी-डैक, समीर, सी-मेट और मीडिया लैब एशिया के साथ-साथ डीईआईटीवाई ने सामूहिक प्रदर्शनी के लिए स्थान किराए पर लेने की दिशा में 30 लाख रुपए का सामूहिक रूप से योगदान दिया और इस कार्यक्रम के लिए चार वरिष्ठ अधिकारियों को प्रतिनियुक्त किया ।  डीईआईटीवाई की सोसायटी और स्टार्ट-अप कंपनियों के बीच इजरायल के साथ सहयोग संबंधी गतिविधियों और व्यापार सहयोग से कई अवसर खुल गए हैं।
  • संयुक्त सचिव, वाणिज्य विभाग के नेतृत्व में डीईआईटीवाई के एक प्रतिनिधिमंडल ने सेवाओं में व्यापार के लिए अंतरराष्ट्रीय मेले )सीआईएफटीआईएस) और सॉफ्ट चीन में भाग लेने के लिए मई 2014 में चीन का दौरा किया ।  भारतीय पक्ष ने का भी आयोजन किया मुद्दों (विशेष विनियामक) और एसओई में बाजार की क्षमता को गहराई में समझने के लिए हमारे उद्योग को एक अवसर प्रदान करने के लिए प्रमाणन और लाइसेंसिंग की आवश्यकता पर नियामक कार्यशाला आयोजित की और उसमें भाग लिया तथा चीनी राष्ट्र के स्वामित्व वाले उद्यमों )एसओई) के साथ गोलमेज बैठक की ।
  • व्यापार, आर्थिक, वैज्ञानिक, प्रौद्योगिकी, और औद्योगिक और सांस्कृतिक सहयोग पर 11वें भारत-कजाकिस्तान अंतर सरकारी आयोग (आईजीसी) का आयोजन अस्ताना, कजाखस्तान में अप्रैल, 2014 में किया गया । डीईआईटीवाई ने बैठक में भाग लिया जिसमें दोनों देशों के बीच सूचना और संचार प्रौद्योगिकी के क्षेत्र में द्विपक्षीय सहयोग को मजबूत करने के लिए विभिन्न मुद्दों पर विचार-विमर्श किया गया ।
  • नई दिल्ली में अप्रैल 2014 में सूचना और संचार प्रौद्योगिकी और इलेक्ट्रॉनिकी (आईसीटीई) पर अनुसंधान एवं नवाचार पर भारत-यूरोपीय संघ कार्यशाला आयोजित की गई । यूरोपीय संघ के एक प्रतिनिधिमंडल ने कार्यशाला में भाग लिया और कार्यशाला की अध्यक्षता सचिव, डीईआईटीवाई द्वारा की गई ।
  • माननीय उपाध्यक्ष, योजना आयोग की अध्यक्षता में तीसरी सामरिक आर्थिक वार्ता (एसईडी), के 16-20 मार्च, 2014 तक बीजिंग में आयोजित की गई । संयुक्त सचिव, आईसीडी डीईआईटीवाई के प्रतिनिधिमंडल में शामिल थे ।  आईटी-आईटीईएस क्षेत्र में चीन के साथ व्यापार सहयोग को आगे बढ़ाने के लिए एमसीआईटी और चीनी गणराज्य के उद्योग और सूचना प्रौद्योगिकी मंत्रालय के बीच बैठक के दौरान एक समझौता ज्ञापन पर हस्ताक्षर किए गए । सचिव, आईटी के नेतृत्व में एक उच्च स्तरीय सरकार-उद्योग प्रतिनिधिमंडल सीईबीआईटी हनोवर, 2014 और आईसीटी के क्षेत्र में दोनों देशों के बीच सहयोग के लिए अन्य द्विपक्षीय बैठकों में भाग लेने के लिए 10-12 मार्च, 2014 के दौरान जर्मनी का दौरा किया।
  • ई-सरकार के क्षेत्र में क्षमता निर्माण के क्षेत्र में ई-शासन, डीईआईटीवाई एस्टोनिया गणराज्य के संचार और आर्थिक मामलों के मंत्रालय के बीच 6 फ़रवरी 2014 को एक समझौता ज्ञापन पर हस्ताक्षर किए गए ।
  • भारत ने सीएलएमवी में सी-डैक द्वारा प्रशिक्षण पाठ्यक्रमों के लिए सॉफ्टवेयर विकास और प्रशिक्षण और प्रमाणन में उत्कृष्टता केंद्र की स्थापना के लिए 15-17th जनवरी, 2014 के दौरान आयोजित आसियान टेलसम कार्य समूह की बैठक में भाग लिया ।
  • सूचना प्रौद्योगिकी और इलेक्ट्रॉनिक्स के क्षेत्र में सहयोग पर एमसीआईटी और कोरिया संघीय गणराज्य के प्रौद्योगिकी और अर्थशास्त्र संघीय मंत्रालय के बीच आशय की एक संयुक्त घोषणा पर 17 जनवरी 2014 को हस्ताक्षर किए गए ।
  • सीईआरटी-इन और कोरिया गणराज्य की कोरिया इंटरनेट और सुरक्षा एजेंसी के कोरिया कंप्यूटर इमरजेंसी रिस्पांस टीम समन्वय केंद्र के बीच प्रमाणन प्राधिकारियों को आपसी मान्यता प्रदान करने के लिए एक व्यवस्था के विकास हेतु सहयोग और जानकारी का आदान-प्रदान हेतु एक समझौता ज्ञापन पर 17 जनवरी 2014 को हस्ताक्षर किए गए।
  • सॉफ्टवेयर/आईटी पर भारत-कोरिया के बीच 17 जनवरी 2014 को एक गोलमेज बैठक आयोजित की गई।
  • साइबर सुरक्षा और प्रमाणन प्राधिकरण पर भारत-कोरिया कार्यशाला कार्यक्रम के तहत एक संयुक्त कार्यशाला 17 फ़रवरी 2014 को आयोजित की गई ।