Left Navigation

गुणक अनुदान योजना (मल्टीप्लायर ग्रांट्स स्कीम)

इलेक्ट्रॉनिकी और सूचना प्रौद्योगिकी विभाग (डीईआईटीवाई) गुणक अनुदान योजना (मल्टीप्लायर ग्रांट्स स्कीम–एमजीएस) लागू करने जा रहा है। एमजीएस का उद्देश्य उद्योग और शैक्षिक/ अनुसंधान एवं विकास संस्थानों के बीच उत्पादों एवं पैकेजों के विकास के लिए सहयोगात्मक अनुसंधान को बढ़ावा देना है। इस योजना के तहत, अगर उद्योग संस्थागत स्तर पर वाणिज्यिकृत किए जा सकने वाले उत्पादों के विकास के लिए अनुसंधान एवं विकास को सहयोग प्रदान करता है तो सरकार भी वित्तीय सहायता प्रदान करेगी। सरकार द्वारा दी जाने वाली सहायता उद्योग द्वारा की गई वित्तीय सहायता की दुगुनी होगी। इस योजना के तहत वित्तीय सहायता के लिए भेजे जाना वाला प्रस्ताव उद्योग और संस्थान मिलकर जमा करेंगे।

व्‍यापक उद्देश्‍य

  • उद्योग/ संस्थान– संबंधों को मजबूत बनाना।
  • स्वदेशी उत्पादों/ पैकेजों के विकास को प्रोत्साहित करना और उनमें तेजी लाना।
  • अनुसंधान एवं विकास और व्यावसायीकरण के बीच अन्तर को कम करना।

बहुगुणक अनुदान योजना (एमजीएस)

एमजीएस के अंतर्गत प्रायोजित अनुसंधान एवं विकास परियेाजनाएं

बहुगुणक अनुदान योजना (एमजीएस) के अंतर्गत सहायता प्राप्‍त कुछ परियोजनाओं के संक्षिप्‍त विवरण नीचे दिए गए हैं:

  • पोवई लैब टेक्‍नोलॉजी प्राइवेट लिमिटेड के सहयोग से आईआईटी बांबे द्वारा प्रस्‍तुत जटिल अनुप्रयोगों के लिए विश्‍वसनीय प्रोसेसर प्‍लेटफॉर्म

परियोजना का उद्देश्‍य वास्‍तविक समय आधारित प्रचालन प्रणाली (आरटीओएस) और विकास टूल के साथ पूर्णत: सत्‍यापित और फाल्‍ट टॉलरेंट प्रोसेसर (आरटीएल+ विकास बोर्ड) की प्रदायगी करना है।

  • ग्रेफेन की वृद्धि के लिए सीवीडी रिएक्‍टर और रिसाइप का आदिरूप तैयार करना

इस परियोजना का व्‍यापक उद्देश्‍य उच्‍च गुणवत्‍ता युक्‍त एकल सतह वाला ग्रेफेन (एसएलजी) उत्‍पन्‍न करने के लिए एक सीवीडी ऑप्टिमाइज्‍ड रिएक्‍टर निर्मित करना है।

विस्‍तृत जानकारी के लिए संपर्क करें:

सुश्री गीता कठपालिया, वैज्ञानिक ‘जी’
विभागाध्‍यक्ष, नवोदभव और आईपीआर प्रभाग
दूरभाष: +91-11-24363128 (कार्यालय)
ईमेल:g[dot]kathpalia[at]nic[dot]in,
geeta[at]deity[dot]gov[dot]in